भगवान को 56 भोग क्यों लगाये जाते हैं?

God ko 56 bhog kyo lagya jate ha?

जब भी हम कोई बड़ी पूजा अर्चना करते हैं तो भगवान को विशेष रूप से 56 प्रकार के भोजन का भोग लगाया जाता है। आज हम आपको बताएंगे कि भगवान को 56 प्रकार के भोजन का भोग किस कारण से लगाया जाता है और 56 प्रकार के भोजन का भोग लगाने से भगवान कैसे मनुष्य पर अपनी कृपा दृष्टि बनाए रखते हैं। ज्योतिष और पुराणों में मान्यता है कि माता यशोदा भगवान श्री कृष्ण को दिन में 8 बार भोजन कराती थी।

जब भगवान श्री कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी अंगुली पर उठाया था। भगवान ने गोवर्धन पर्वत को इंद्र के प्रकोप से बचाने के लिए 7 दिन तक उठाए रखा था। इन 7 दिनों में भगवान श्रीकृष्ण ने किसी भी प्रकार का भोजन नहीं किया था। जब इंद्र भगवान श्री कृष्ण के आगे हार गए और उन्होंने बरसात को रोक दिया।

आपका मासिक राशिफल देखे

आपका वार्षिक राशिफल 2023 देखे

उसके बाद भगवान श्री कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को वापिस रखा था और उस दिन माता ने 56 प्रकार के पकवान बनाकर भगवान श्रीकृष्ण को खाना खिलाया था। तब से पुराणों में मान्यता है कि 56 प्रकार के भोजन का अगर भगवान को भोग लगाया जाए तो वह काफी जल्द प्रसन्न होकर मनुष्य के कष्टों को हर लेते हैं।

साप्ताहिक राशिफल 14 नवंबर से 20 नवंबर तक जाने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें-https://www.icml.co.in/weekly-horoscope-14-november-se-20-november-tak/

ये भी पढ़े   अगर रिश्तेदार आप से लिया गया उधार वापस नहीं लौटा रहे हैं तो करें यह छोटा सा उपाय

Leave a Comment